सफलता की परिभाषा क्या है :- हिंदी में | What is Success?

यह निर्धारित करना, सफलता के मार्ग पर पहला कदम है कि आपके और हमसभी के लिए सफलता का अर्थ क्या है ?
यहाँ सफलता को दो परिचय में अलग किया गया है..!

जो हमारे पीछे है और जो हमारे आगे है । वह उसकी तुलना में बहुत नगण्य चीजें हैं जो हमारे अंदर है।

यह शब्द एक महान दार्शनिक – राफेल वाल्डो इमर्सन कही हैं ।
इसी शब्द के पहेली से मैं आपको सफलता के रास्ते से परिचय करवाऊँगा।

परिचय १

मैं आप सफलता की अपनी दूरदृष्टि स्पष्ट करेंगे और इस बारे में सोचना शुरु करेंगे कि आप इसे कैसे पूरा कर सकते हैं। आप उन व्यक्तिगत गुणों पर भी विचार करेंगे जो आपको सफलता तक पहुंचाने में मदद करेंगे ।और इसकी खोज करेंगे कि किस तरह से यहा अध्ययन करने से आपको स्वयं को तथा अपनी दुनिया को समझने में मदद मिल सकती है।

परिचय 2

मैं आप अपने पहचान और आत्मा छवि के बारे में विचार करना आरंभ करेंगे।आप इस पर विचार करेंगे कि आप खुद को किस तरह देखते हैं और आपके लिए इसका क्या अर्थ है।

परिचय 1

हममें से हर किसी के लिए सफलता के लिए एक निजी परिभाषा होती है।धरती पर लगभग 95 परसेंट लोग गरीब है और उसमें से ज्यादातर लोग बहुत ही गरीब है।

खेती करने के भूमि हासिल करना , उचित वेतन वाले कोई नौकरी पा लेना, और बच्चों का सही तरीके से पालन पोषण करते हुए उन्हें बड़ा करने के लिए पर्याप्त धन कमाने का तरीका खोज लेना ही ऐसे परिवार के किसी सदस्य के लिए सफलता हो सकती हैं ।

सफलता की अपनी अलग परिभाषा है, आमतौर पर सफलता को पैसे या भौतिक सुख सुविधा से जोड़कर देखा जाता है ,अगर आपके पास पैसे हैं आपका नाम है तो आपको एक अच्छा सफल व्यक्ति मान लिया जाए जाता है। लेकिन यह सफलता की परिभाषा नहीं हो सकती है।

हमारी संस्कृति में तथा विश्व के अनेक औद्योगिक। देशों में सफलता को प्रायः भौतिक समृद्धि और प्रसिद्धि से जोड़कर देखा जाता है। जिनमें संपन्न और प्रसिद्ध लोगों की जीवनशैली की झलके हमारे अहसासों पर असर करती है और हम उनके मूल्यों को असली उपलब्धियों से जोड़ने के लिए प्रेरित होते हैं।

20वीं शताब्दी के एक महान दार्शनिक – अर्ल नाइटिंगेल ने अपनी। दि अस्ट्रैंजैस्ट सीक्रेट में सफलता की एक बहुत सार्थक परिभाषा दी है।

” सफलता एक योग्य उचित आदर्श का क्रमिक रूप से सकार होना है”

इसका अर्थ है कि जब हम किसी भी क्षेत्र या ऐसी दिशा में कार्य करते है या बढ़ते हैं, जो हम प्राप्त करना चाहते हैं । विशेषकर जब वह कुछ हमें मानवी जगत में सम्मान और गरिमा दिलाने वाला हो, तो हम सफल हो रहे होते हैं।

इसका प्रतिभा, बुद्धिमत्ता ,आयु ,लिंग, मूल स्थान, या जन्म से किसी भी प्रकार से कोई भी लेना देना नहीं होता है । इसका अर्थ प्रसिद्ध हस्ती महापुरुष या टायकून होना नहीं है।

सफलता- जीवन प्रयत्न की संतुष्टि, जो आपके कार्य व निजी जीवन में सार्थकता का तत्व सृजित करने से आती है। तो सफलता क्या है ?

सफलता का अर्थ जीवन जीवन प्रयत्न की निजी संतुष्टि से लिया गया है निजी संतुष्टि आपके कार्य और जीवन में सार्थकता के तत्व सृजित करने से आती है ।  इस प्रकार की सफलता अन्य किसी व्यक्ति के द्वारा प्रदान की गई नहीं होती है ।

और किसी अन्य द्वारा छीनी भी नहीं जा सकती है ।इसके लिए जोखिम उठाने किसी भी चुनौतियों का सामना करना और आपके संसाधन का आपकी पूरी क्षमता से उपयोग करने की आवश्यकता होती है।

सफलता एक सफर है कोई मंजिल नहीं है.
सफलता एक प्रक्रिया है स्थिति नहीं है…

आप एक ही बार में या एक बार में सफलता पर नहीं पहुंच सकते |

आप रोजाना सफलतापूर्वक जीते रह सकते हैं, आपको अपने अंदर झांकना , अपने मूल्य पर विचार करना, और आपके लिए सबसे अधिक सार्थक जीवन पथ पर आगे बढ़ना इसमें शामिल है ।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.