कंप्युटर का वर्गीकरण कितने प्रकार के होते है | Classification of Computer in Hindi

Hello Friend मैं Vivek Sharma आप लोगों का स्वागत करता हूँ । Computer कई प्रकार के होती है  जिसे अलग अलग प्रकार से वर्गीकृत किया गया है इस article आप पढ़ेंगे कंप्युटर का वर्गीकरण इसके काम के आधार पर इसके साइज़ के आधार पर और इसके उद्येश के आधार पर ।  

computer को मुख्यतः 3 प्रकार से वर्गीकृत किया जाता है Size के आधार पर काम के आधार पर और और उपयोग के आधार पर ।

  • उद्येश्य के आधार पर

उद्येश्य के आधार पर कंप्युटर को 2 भागों में बाँट जाता है ।

  • 1  . General purposes Computer
  • 2 . spatial purposes Computer

काम के आधार पर कंप्युटर को 3 भागों में बाटा जाता है ।

  • 1. Analog Computer
  • 2 . Digital Computer
  • 3.. Hybrid Computer

Analog Computer : किसी भी चीज का Finical यूनिट जानने के लिए Analog Computer का एस्तेमाल किया जाता है । इसका उपयोग ताप प्रेससोर और दाब को मापने के लिए इस्तेमाल किया जाता है । लेकिन इसका टाइम प्रोससेस ज्यादा होने की वजह से इसका इस्तेमाल काम हो गया है । 

Digital Computer : वे सारी कंप्युटर जो बाइनरी language यानि 0 , 1 पर काम करती हैं । इसका इस्तेमाल व्यापार एनिमेशन एडिटिंग के लिए किया जाता है । Digital शब्द Digit से बना है जिसका मतलब होता है अंक । तो कंप्युटर बिनरी language  यानि 0 और 1 पर काम करते है । इस प्रकार कंप्युटर का डिजिट 0 और 1 होता है । इसलिए ऐसा कंप्युटर जो 0 और 1 पर काम करते है उसे डिजिटल कंप्युटर कहा जाता है । 

Hybrid Computer : Analog Computer और Digital Computer के गुणों का मिश्रण होता है hybrid computer । यानि ऐसा कंप्युटर जो फिज़िकल यूनिट को भी माप सकता है और उसमें विधुत भी प्रवाह करता हो । ऐसे कंप्युटर की Hybrid computer कहा जाता है । 

जैसे :  ईसीजी मशीन ,पेट्रोल पम्प मशीन इत्यादि

Types of Computer According to there size 

साइज़ के आधार कंप्युटर को 5 भागों में बाटा जाता है । ऐसे कंप्युटर का लिस्ट इस प्रकार है ।

1. Micro Computer

2. Mini Computer

3. Mainframe Computer

4. Super Computer

5. Embaded  Computer

Mini Computer < Micro Computer < Mainframe Computer <Super Computer

1. Micro Computer: Micro Computer आकार में सबसे छोटे होते है । इस कंप्युटर में केवल 1 ही processor होते हैं । यह Computer traveling के लिए अच्छा होता है । 

जैसे : Laptop , Smartphone , Teblet , Palmtop

2. Mini Computer : Mini Computer के motherboard में 1 से ज्यादा processor लगे होते है। यह Computer Micro Computer से साइज़ में बड़े होते है । 

जैसे : Dual core Laptop or Computer

3. Mainframe Computer : Mainframe Computer का इस्तेमाल एक बहुत ही बड़ी डाटा को स्टोर करने के लिए इस्तेमाल किया है । यह कंप्युटर Micro कंप्युटर और Mini कंप्युटर से साइज़ में बड़े होते हैं । इस कंप्युटर को Multiuser कंप्युटर कहा जाता है , क्योंकि इस कंप्युटर में एक साथ कई यूजर access कर सकता है । 

इसका इस्तेमाल Government पोर्टल , Railway पोर्टल , resurvation पोर्टल इत्यादि में किया जाता है ।

user और Mainframe Computer के बीच connect करने के लिए Dumb टर्मिनल का इस्तेमाल किया जाता है । 

Dumb टर्मिनल का काम होता है डट को एक जगह से दूसरी जगह भेजना । 

Terminal 3 प्रकार के होते है 

1. Dumb टर्मिनल  : Dumb टर्मिनल ना ही डट को स्टोर कर सकता है और न ही डाटा को प्रोससेस कर सकता है । 

2. स्मार्ट टर्मिनल   : स्मार्ट टर्मिनल डाटा को prosses तो कर सकता है लेकिन स्टोर नहीं कर सकता हैं । 

3. Intelligent टर्मिनल   : Intelligent टर्मिनल डट को स्टोर भी कर सकता है और प्रोससेस भी कर सकता हैं । 

Mainframe Computer 32 बिट और 64 बिट कंप्युटर प्रोससेस के होते हैं । 

First Mainframe Computer : UNIVAC 1

UNIVAC full form  UNIVARSAL AUTOMATIC COMPUTER 

4. Super Computer : Super Computer का निर्माण उच्च स्तर वाले हजारों prosses को मिलाकर होता है । यह कंप्युटर multi tasking और multi programing होता है । सुपर कंप्युटर parallel processing और multi प्रोसेससिंग पर काम करते है । जिसमे multi prosses का मतलब होता है एक से ज्यादा प्रोससेस और parallel processor का मतलब होता है बड़े साइज़ के प्रोग्राम को छोटे साइज़ में तोड़कर तब प्रोससेस करना । सुपर कंप्युटर का साइज़ सबसे बाद होता है । इसका स्पीड भी सबसे ज्यादा होता है और इसका स्टॉरिज छमता भी सबसे ज्यादा होता है । 

सुपर कंप्युटर का स्पीड FLOPS मे मॅप जाता है ।

FLOPS का FULL FORM होता है  FLOTING POINT OPERATION PER SECOND

मॉडर्न सुपर कंप्युटर को PETA FLOPS में मापा जाता है

Latest सुपर कंप्युटर का नाम FUGAKU है जिसे जापान में बनाया गया था ।

सबसे तेज सुपर कंप्युटर का नाम प्रत्यूष और मिहिर है जिसका इस्तेमाल  मौसम बिभाग में किया जाता है

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.